अलुमिनो-थर्मिट वेल्डेड रेल संधियों के श्रांति सामर्थ्य मूल्यांकन सी एस आई आर – एस ई आर सी में सफलतापूर्वक किया गया

सरकार एवं निजी एजन्सियों से प्राप्त अनेक वेल्डेड रेल संधियों के श्रांति जीवनकाल मूल्यांकन का कार्य, अनुसंधान अभिकल्प एवं मानक संस्थान, लखनऊ के विनिर्देशों के अनुसार सी एस आई आर – संरचनात्मक अभियांत्रिकी अनुसंधान केंद्र, चेन्नै में किया गया. ऐ रेल संधि दो मिलियन कानस्टांट एम्प्लिट्यूड सिनुसोइडल साइक्लिक भारण को सहन करना है. ऐ परीक्षण नमूनों की पूरी लंबाई दो मीटर है. इनको 1.5 मीटर की स्पेन से समर्थित किया गया और केंद्र से 75मि.मि. की दूरी पर दो स्थानों में भार को अनुप्रयोग किया गया. तीन नमूनों पर परीक्षण करना है और तीनों रेल संधि निर्धारित चकों को पार करना है

सी एस आई आर – एस ई आर सी द्वारा किए जा रहे ऐसे आधुनिक सामर्थ्य परीक्षण, भारतीय रेल को पटरियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने में सहायक साबित हो रहे हैं. पिछले तीन दशकों से भारतीय रेलवे को वेल्डेड रेल संधियों की गुणवत्ता की मुल्यांकन केलिए सहयोग देने में सी एस आई आर – एस ई आर सी सबसे आगे रहती आ रही है. अभी हाल ही में भारतीय रेलवे केलिए अलुमिनो-थर्मिट वेल्डेड रेल संधियों की श्रांति सामर्थ्य मूल्यांकन परीक्षण सी एस आई आर – एस ई आर सी ने सफलतापूर्वक किया.

पटरियों के अंतिम भागों को जोडने केलिए विश्व भर में अलुमिनो-थर्मिट प्रक्रमण को व्यापक रूप से उपयोग किया जा रहा है. अलुमिनो-थर्मिट वेल्डिंग एक ऐसा प्रक्रमण है जिससे अत्यधिक ढ्लवा धातु से गरम करने से, अलुमिनो-थर्मिट प्रतिक्रिया द्वारा एक धातु आक्साइड और अलुमिनियम के बीच धातुओं को विलयन हो सकती है. अलुमिनो-थर्मिट वेल्डिंग का महत्व यह है कि उसको कार्यस्थल में कर सकते हैं

एक अलुमिनो-थर्मिट वेल्डेड रेल संधि पर श्रांति परीक्षण केलिए सेट-अप

परीक्षण सेट-अप का निकटतम द्रुश्य