विशेष एवं बहु-प्रकार्यक संरचनाएं - अनुसंधान क्षेत्र

विशेष संरचनाएं अपने आप में अद्वितीय होते हैं, और ये अपनी असफलता से (मानव और आर्थिक क्षति से) विशेष परिणामों को सामना करना होता है। संरचनात्मक अभियंताओं को चिरपरिचित कुछ विशेष संरचनाएं हैं - लांग स्पान सस्पेन्शन / केबल स्टेड पुल, संचारण रेखा टावर्स, लंबे शीतल टावर्स, जहाज संरचनाएं, एरोस्पेस संरचनाएं, अंतर महाद्वीपीय दफन पापइलाइन्स, सुरंग, समुद्री रैसर्स, टेन्शन लेग प्लाटफार्म्स, अपतट संरचनाएं, ऊर्जा संयंत्र संरचनाएं, लंबे वायु टर्बेन्स, बहु-प्रकार्यक लंबे भवन, फंक्शनली ग्रेडेड वस्तुओं से तैयार किए गए संरचनाएं और अंतरिक्ष संरचनाएं। सीएसआईआर-एसईआरसी ने शिप हल संरचनाओं के विश्लेषण संचार और संचरण रेखा टावरों के विश्लेषण, अभिकल्प और पूर्ण-मापन परीक्षण, अपतट और नाभिकीय पाइपिंग घटकों के श्रांति एवं विभंजन आचरण, और शीतल टावरों के विश्लेषण एवं अभिकल्प पर विस्तृत रूप से कार्य किया है और अनुसधान कार्य को जारी भी रखा है। सीएसआईआर-एसईआरसी ने अपना अनुसंधान & विकास क्षमताओं को इन संरचनाओं के विश्लेषण एवं अभिकल्प सहित भविष्य की चुनौतियों को सामना करने केलिए जारी रखा है। बहु-प्रकार्यक संरचनाओं पर विशेषज्ञता के विकास केलिए अनुसंधान एवं विकास कार्य करने की आवश्यकता है जो ऊर्जा संसाधान, कार्बन फुट प्रिंट घटौती, आदि के जरिए धारणीयता की दिशा में एक नया आयाम जोड सके।